बर्थडे पर स्पेशल गिफ्ट दीदी की चूत-1

मेरी सेक्सी दीदी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपने मामा की बेटी को पसंद करता था. वो मुझसे बड़ी थी और शादीशुदा थी. हम दोनों खुले हुए थे.

लेखक की पिछली कहानी: चलती बस में खूबसूरत भाभी के साथ चुदाई

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम आरव है और मेरी उम्र 19 साल है. मैं दिल्ली में अपने मॉम डैड के साथ रहता हूं. आज मैं आपके सामने मेरी एक सेक्स कहानी प्रस्तुत कर रहा हूं.

छह दिसम्बर को मेरा बर्थ-डे आने वाला था. उस दिन में 19 साल का हो जाऊंगा.

मेरे बर्थ-डे पर मेरे मामा की लड़की जिया दी आने वाली थीं, जिनकी एक साल पहले ही शादी हुई थी. जिया दीदी की उम्र आज 28 साल है.

मेरे मामा मुंबई में रहते हैं और वो कंस्ट्रक्शन का काम करते हैं इसलिए वो पहले से ही काफी पैसे वाले हैं.

मेरे डैड बैंक में मैनेजर हैं तो हमारी फैमिली भी सैटल है.

जिया दीदी और मैं हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं. बस उम्र का फर्क है.

सच कहूँ तो जब से मैं समझदार हुआ, तब से मैं जिया दीदी से पसंद करता था लेकिन जिया दीदी किसी और से प्यार करती थीं.
एक साल पहले जिया दीदी ने उस लड़के से शादी कर ली.

जिया दीदी खूबसूरत और हॉट लड़की होने के साथ साथ अब तक स्टाइलिश जिंदगी जीती आई हैं और वो एक मॉडर्न ख्यालात वाली लड़की हैं.

बर्थ-डे पर जिया दीदी आने वाली थीं और उनके अलावा कोई रिश्तेदार नहीं होगा.
लेकिन हां मेरे दोस्त जरूर होंगे.

  मेरी ममेरी बहन की कमसिन जवानी

मैं छह दिसम्बर को सुबह जल्दी उठकर फ्रेश हुआ और तैयार हो गया.
उसके बाद मैंने मॉम-डैड का आशीर्वाद लिया, फिर डैड की कार लेकर घर से निकल गया.

आज रविवार भी था, तो बैंक की छुट्टी थी, पापा को कार की जरूरत नहीं थी. इस वजह से आज पूरे दिन कार मेरे पास रहने वाली थी.

मैं अपने तीनों दोस्तों को लेने चला गया. बाकी दूसरे दोस्त आगे इंतजार कर रहे थे.

हम सभी मिलकर सबसे पहले एक रेस्तरां में बेक्रफास्ट करने बैठ गए. हम सभी नौ लोग थे और कॉलेज के खास दोस्त हैं.

अभी तक मैं सिंगल हूँ, लेकिन हमारे इस ग्रुप तीन लड़कियां भी मौजूद थीं. ये सब मेरे साथ कॉलेज में पढ़ती थीं.

उनमें से एक मुझे पसंद थी, लेकिन वो पहले से मेरे दोस्त से सैट थी और दूसरी दो लड़कियां मुझे पसंद नहीं थीं.

हम सभी दोस्तों ने एक साथ बेक्रफास्ट किया फिर हम सभी दिल्ली घूमने निकल गए.

करीब तीन घंटे की धींगामुश्ती के बाद भूख लग आई थी और लंच टाइम भी हो गया था.
तो दोपहर में एक अच्छे से रेस्टोरेंट में लंच करने आ गए.

लंच के बाद हम लोग फिर से घूमने निकल गए.
ऐसे ही हम लोग पूरे दिन तक घूमते रहे.

डैड ने आज रात की पार्टी एक शानदार होटल में बुक की थी.

पांच बजे मुझे जिया दीदी का फोन आया कि वो घर पर पंहुच चुकी हैं.

मैंने उनसे कहा- दी हमारी मुलाकात रात को ही हो पाएगी क्योंकि मैं अभी अपने दोस्तों के साथ हूँ और हम सब एक साथ मौज मस्ती कर रहे हैं.

फिर रात के सात बजे हम सब अलग हो गए और उस जगह पर पहुंच जाने की तैयारी करने लगे … जहां आज मेरी बर्थ-डे की पार्टी थी.

समय से कुछ पहले ही मैं और मेरे चार दोस्त तैयार होकर होटल में पहुंच गए.
मेरे दूसरे दोस्त भी कुछ देर के बाद पहुंच गए.

थोड़ी देर में मेरी पूरी फैमिली भी पहुंच गई.

जब जिया दी होटल आईं, तब मेरी उनसे मुलाकात हुई.
ये मुलाक़ात दो महीने बाद हो रही थी.

जिया दीदी ने मुझे देखा और मुस्कुरा कर अपनी बांहें फैला दीं.
मैं भी अपनी सेक्सी दीदी की तरफ भाग कर आया.

हम दोनों गले मिल गए.
दीदी ने खुश होकर मुझे विश किया.

अब तक सभी लोग आ चुके थे.
मेरी बर्थ-डे पार्टी का सेलिब्रेशन शुरू हो गया.

सबसे पहले म्यूजिक पर हम लोगों ने डांस किया, उसके बाद केक काटा गया.
उसमें मेरे दोस्तों ने मेरे मुँह पर केक लगा दिया था. उसको साफ करते करते मुझे बीस मिनट लग गए.

खूब मजा आ रहा था.

फिर हम सभी ने डिनर किया और डिनर के बाद चिल आउट किया.
दोबारा डांस हुआ.

ऐसे करते करते रात के ग्यारह बज गए थे.
डैड ने सभी को घर चलने के लिए बोला.

हम सभी होटल से घर के लिए निकल आए.

वापस आते टाइम मैं अपनी फैमिली के साथ आया था.
डैड कार चला रहे थे, उनके पास मॉम बैठी थीं और मैं और जिया दीदी पीछे बैठी थीं.

दीदी के पति यानि जीजाजी को काम था, इसलिए जीजाजी नहीं आ सके थे.
जिया दीदी हमेशा मेरे बर्थ-डे सेलिब्रेशन पर होती हैं और वो मेरे लिए गिफ्ट भी लेकर आई थीं.
वो गिफ्ट घर पर रखा था.

बड़े बूब्स वाली दिल्ली कॉलेज गर्ल सेक्स का आनंद ले रही

जिया दीदी और मैं बहुत अच्छे दोस्त हैं. हम दोनों हमारी बात खुलकर शेयर करते हैं.
मेरी जिया दीदी स्टाइलिश हॉट लड़की होने के साथ साथ मॉडर्न ख्यालत वाली हैं तो मैं उनके साथ खुलकर बात कर लेता था.

अगर मैं जिया दीदी से पूछ भी लूं कि आपने आखिरी बार कब सेक्स किया था, तो वो भी बिना शर्माए बता देंगी.

मैं जिया दीदी की स्टाइलिश जिंदगी को तो ही जानता हूं बल्कि उनकी पर्सनल लाईफ के बारे में भी काफी कुछ जानता हूं.

जिया दीदी ने लव मैरिज की है सभी फैमिली वालों की मर्जी से.
जिया दीदी और जीजाजी में प्यार की बात सिर्फ मैं जानता था.

मुझे आज भी याद है, जब एक दिन मैं अपने मामा के घर पर था. तब जिया दीदी की शादी नहीं हुई थी.
उस वक्त हम दोनों घर पर थे. फिर रात को डिनर पर राहुल आए थे, जो जिया दीदी के आज पति बन गए हैं. शादी से पहले राहुल ही दीदी के ब्वॉयफ्रेंड थे.

उस दिन डिनर पर हम तीनों साथ में डिनर करते हुए बातें कर रहे थे.
रात के ग्यारह बजे तक हम तीनों बात करते रहे थे.

मैं उसी दिन समझ चुका था कि राहुल अब तक अपने घर क्यों नहीं जा रहे हैं.
क्योंकि वो शायद उस दिन जिया दीदी को चोदकर जाने के मूड में थे.

जिया दीदी भी अपनी चुदाई के लिए तैयार थीं इसलिए वो भी राहुल को जाने के लिए नहीं कह रही थीं.
पर मैं एक समस्या था … मेरे साथ होने पर दोनों रोमांस नहीं कर पा रहे थे और ना कुछ और.

मैंने मामला समझ लिया और इसी लिए मैं दीदी से सोने का बोलकर चला गया.

वो दोनों कॉलेज टाइम से एक-दूसरे को प्यार करते थे और इससे पहले भी सेक्स कर चुके थे.

जिया दीदी ने ये बात मुझे खुद बताई थी कि उन दोनों के बीच एक-दो महीने में एक बार सेक्स हो जाता है.

मैं अपने कमरे में आकर लाईट ऑफ़ करके बेड पर चुपचाप लेटा हुआ था और ऐसे ही सोच रहा था.

उस टाइम पर मैं भी जिया दीदी को पसंद करता था लेकिन जिया दी पहले से किसी और से प्यार करती थीं … और ऊपर से उम्र में मुझसे बड़ी थीं.

इन दो वजहों से मेरा प्यार मेरे दिल तक ही रुक गया था. मैं कभी अपने दिल की बात बाहर नहीं ला सका.

जिया दीदी पहले से ही खूबसूरत होंठ और परफेक्ट फिगर वाली लड़की थीं और राहुल एक हैंडसम और अच्छे घर का लड़का था. उन दोनों की जोड़ी अच्छी बनती थी.

उस रात मुझे लगा कि राहुल बिना सेक्स के घर पर शायद नहीं जाएंगे, तो मेरा भी मन उनकी चुदाई की आवाजों को सुनने के लिए तरसने लगा था.

जिया दीदी के कमरे के पास गेस्ट रूम था, जहां मैं लेटकर इंतजार कर रहा था. मेरा पूरा ध्यान पास वाले कमरे पर था. मैं अपने दोनों कानों से चुदाई की आवाजें सुनने की कोशिश कर रहा था.

करीब एक घंटे बाद मुझे हल्की सी आवाज सुनाई दी. मैं दीवार के पास चुपचाप खड़ा होकर सुनने की कोशिश करने लगा.

मेरा लंड पहले से ही तन चुका था. मुझे जिया दीदी की हल्की हल्की सी कामुक आवाजें सुनाई देने लगी थीं.

जिया दीदी की कामुक आवाज बहुत कम सुनाई दे रही थी लेकिन हां अगर मैं उनके कमरे में होता … तो बहुत मजा आता.

दीदी का कमरा बहुत बड़ा था, तो कुछ ठीक से सुनाई नहीं दे रहा था.
जब जिया दी कामुक आवाज बढ़ गई, तब मुझे उनकी मादक आवाज सुनाई दीं.

सेक्सी दीदी की आवाजों को सुनकर मुझे एक बात का अहसास हो रहा था कि राहुल बड़े मजे से जिया दी को पेल रहे हैं.

मैं मन में सोचने लगा कि उन दोनों की चुदाई किस तरह से हो रही होगी.
शायद उस समय जिया दीदी पूरी नग्न अवस्था में लेटी हुई होंगी और राहुल दीदी के ऊपर चढ़कर उनको चोद रहे होंगे.

यह सोचकर मेरा लंड एकदम टाइट हो गया और मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ.
मैं बाथरूम में जाकर मुठ मारने लगा.
दो मिनट बाद लंड झड़ गया तो सुकून पाकर वापस अपने बेड पर आकर लेट गया.

अब दीदी के कमरे से कुछ सुनाई नहीं दे रहा.

राहुल बहुत किस्मत वाले हैं जो मेरी दीदी के न केवल ब्वॉयफ्रेंड हैं … बल्कि उनको, जिया दीदी को चोदने का मौका भी मिलता है.
काश मुझे भी एक बार भी जिया दीदी को चोदने का मौका मिल जाता.

वो रात आज भी मुझे याद है, लेकिन वो सिर्फ अब याद बनकर रह गई है.

वैसे शादी के बाद आज जिया दीदी का फिगर पहले से भी ज्यादा मस्त हो चुका है जिसको देखकर मेरे दिल के अरमान फिर से जाग गए.

लॉकडाउन के समय रात के ग्यारह बजे मैंने दीदी को फोन किया था लेकिन पहली बार की रिंग में जिया दीदी ने फोन नहीं उठाया तो मैंने दोबारा फोन किया.
तब जिया दीदी फोन उठाकर मुझसे दूसरे दिन बात करने के लिए बोलीं.

हम दोनों आज भी अच्छे दोस्त हैं, तो मैंने पूछा कि दीदी अभी क्या चल रहा है.

चूंकि मेरी दीदी मुझसे सब कुछ बिंदास बता देती हैं, तो उस रात भी उन्होंने बिना संकोच के मुझे फोन पर बता दिया कि इस समय तेरे जीजाजी मेरे ऊपर चढ़े हुए हैं, तो तू अभी फोन रख … हम कल बात करते हैं.

मतलब वो दोनों चुदाई का मजा ले रहे थे.
मैंने ओके कह कर फोन रख दिया.

इस बात से आप अंदाज लगा सकते हैं कि हम दोनों किस हद तक अच्छे दोस्त हैं.

जिया दीदी ने बिना किसी संकोच के मुझे अपनी चुदाई होने की बात बता दी वर्ना कोई बहन अपने छोटे भाई को ऐसा नहीं बताएगी कि उसके पति मतलब लड़के के जीजाजी लड़के की बहन को चोद रहे हैं, तो बात नहीं हो पाएगी.

लेकिन जिया दी ने उस रात मुझे साफ़ बता दिया कि तेरे जीजा जी मेरे ऊपर चढ़े हुए हैं.

दीदी के ऊपर जीजा जी चढ़े हुए हैं का मतलब मैं भी समझता हूँ कि वो दोनों चुदाई कर रहे हैं.
दीदी के इन शब्दों ने ही मेरे लंड में आग लगा थी और मुठ मारने के बाद ही मुझे शांति मिली थी.

बर्थ-डे पार्टी से घर लौटते समय रास्ते में ये सब मैं सोच कर जिया दीदी के बार में सोच रहा था.

हम सभी आधे घंटे में घर पहुंच गए और कार से उतरकर घर के अन्दर आ गए.
हमारा घर दो मंजिल था जिसमें मॉम-डैड नीचे की मंजिल में रहते हैं … और मैं ऊपर रहता हूं.

ऊपर ही गेस्ट रूम भी था, तो उधर ही आज जिया दीदी रुकने वाली थीं. वो कल वापस चली जाएंगी, इसलिए देर रात तक हम दोनों भाई-बहन बैठकर बात करेंगे.

मैं- जिया दीदी हम घर आ गए हैं, मेरा गिफ्ट कहां है?
जिया दीदी- तुम अपने कमरे में बैठो, मैं बस कपड़े चेंज करके अभी आई.

मैं अपने कमरे में आ गया और मैंने भी चेंज कर लिया.
मैंने लोवर और टी-शर्ट पहन लिया और बेड पर बैठकर फोन में आज के फोटोज देखने लगा था जो दोस्तों ने खींच कर व्हाट्सैप ग्रुप में डाल दी थीं.

तभी जिया दीदी मेरे कमरे में आ गईं और उनके हाथ में मेरा गिफ्ट था. जो उन्होंने अपने पीछे छिपा रखा था.

जिया दीदी- अपनी आंखें बंद कर लो.
मैं- ठीक है.

मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और जिया दीदी मेरे पास बेड पर आ गईं.

दीदी ने मुझसे एक हाथ आगे करने के लिए कहा.
मैंने हाथ आगे कर दिया.

उसके बाद दीदी ने मुझे मेरा गिफ्ट हाथ में थमा दिया.
मुझे हाथ के अहसास से ये फोन जैसा लग रहा था.

मैंने अपनी आंखें खोलकर गिफ्ट को देखा और उसपर चढ़े पेपर को खोलने लगा. जिसमें से आईफोन-12 मेक्स प्रो फोन निकला.

मैं इतना महंगा गिफ्ट देख कर खुश हो गया क्योंकि मैं इस फोन को लेने के लिए सोच ही रहा था.

मैंने खुशी से जिया दीदी को थैंक्यू बोला और जल्दी से बिना देर किए फोन चालू करने लगा.
साथ साथ मैं दीदी से बात करता जा रहा था.
मैं- दीदी मैं सोच ही रहा था इस फोन को लेने के बारे में … और आपने फोन गिफ्ट दे दिया … थैंक्यू दी.

जिया दीदी- मुझे लगा ही था कि तुम्हें गिफ्ट जरूर पसंद आएगा.

वैसे अभी जिया दीदी एक टी-शर्ट और शॉर्ट पहनी हुई थीं, जिसमें उनका फिगर एकदम मस्त दिख रहा था.

अभी हम दोनों पास पास बैठे थे.

जिया दीदी की ब्रा की साईज 34B है और जिया दीदी बिकनी में एकदम गजब लगती हैं.

अगर मैं जिया दीदी की उम्र का होता, तो कसम से जीजाजी मतलब राहुल की बारी नहीं आने देता.

आज राहुल के बदले में जिया दीदी का पति होता. अब तो जिया दीदी राहुल की बीवी हैं, वर्ना सच में.

जिया दीदी मुझसे दस साल बड़ी जरूर हैं लेकिन आज मेरे बर्थ-डे पर इस समय जिया दीदी को जरूर प्रप्रोज कर देता.

इतना होने पर भी आज मैंने मन बना लिया था कि आज सेक्सी दीदी के साथ एक बार ट्राय जरूर करूंगा.

अब तक मैं वर्जिन हूँ … लेकिन किस्मत ने चाहा और जिया दीदी ने साथ दिया, तो मैं आज उनको जरूर चोदना चाहूँगा.

दोस्तो, कहानी के अगले भाग में मैं अपनी सेक्सी दीदी के साथ हुई चुदाई की कहानी को आगे लिखूँगा. आप मेल करना न भूलें.
[email protected]

कहानी का अगला भाग: हॉट दीदी सेक्स कहानी

खूबसूरत चिकनी गाँड वाली लड़की लंड चूस रही है

(Visited 5,947 times, 1 visits today)